पृष्ठ

कुल पेज दृश्य

बुधवार, 5 अक्तूबर 2016

                                     क्यूँ 


क्यूँ, हर अंतराल के बाद दस्तक देते हो 
आजमाने की हर कोशिश करते हो, क्यूँ 
मुझे भी संभलने में खुद को आजमाने में 
तकलीफ होती है ,
ऐ जानते हुए भी 
सिर्फ अपनी तसल्ली के लिए 




4 टिप्‍पणियां:

sangita ने कहा…

i know i am late

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

वाह ... बड़ा सवाल

रश्मि प्रभा... ने कहा…

इस क्यूँ का उत्तर कहाँ है ?

sadhana vaid ने कहा…

बहुत सुन्दर संगीता !

एक टिप्पणी भेजें